Thursday, January 20, 2022
Home संस्कृति पंडित टी सी शर्मा ने बताया मकर संक्रांति पर खिचड़ी का महत्व

पंडित टी सी शर्मा ने बताया मकर संक्रांति पर खिचड़ी का महत्व

आनी, मधु शर्मा:

पंडित टी सी शर्मा के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व इस बार 14 जनवरी को मनाया जाएगा । मकर संक्रांति त्यौहार के लिए पुण्यकाल मुहूर्त सूर्य के संक्रांति समय से 16 घटी पहले और 16 घटी बाद का पुण्यकाल होता है। इस बार पुण्यकाल 14 जनवरी 2022 को सुबह 7:15 बजे से शुरू हो जाएगा, जो शाम को 5:44 बजे तक रहेगा। ऐसे में मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही सम्पूर्ण उतर भारत मे मनाई जानी चाहिए। मकर संक्रांति के दिन स्नान, दान, जाप कर सकते हैं। वहीं स्थिर लग्न यानि महापुण्य काल मुहूर्त की बता करें तो यह मुहूर्त 9:00 बजे से 10:30 बजे तक रहेगा। पंडित टी सी शर्मा ने बताया कि शुक्रवार 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर्व मनाया जाना चाहिए क्योंकि सूर्य के उत्तरायण का दिन इसी दिन से शुरू होगा। माना जाता है कि इस दिन से शुभ कार्यों की शुरुआत करनी चाहिए तथा तुला दान करना भी इस दिन शुभ होता है। इस दिन नदियों में स्नान और दान का बहुत महत्व बताया गया है। इस दिन से देश में दिन बड़े और रातें छोटी हो जाती हैं। शीत ऋतु का प्रभाव कम होने लगता है और ग्रीष्म ऋतु आनी शुरू हो जाती है। मकर संक्रांति का पौराणिक महत्व भी खूब है। मान्यता है कि सूर्य अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। भगवान विष्णु ने असुरों का संहार भी इसी दिन किया था। महाभारत युद्ध में भीष्म पितामह ने प्राण त्यागने के लिए सूर्य के उत्तरायण होने तक प्रतीक्षा की थी। इस त्योहार पर खिचड़ी की महत्ता भी पूरे उत्तरभारत में है।
इस दिन गुड़, घी, नमक और तिल के अलावा काली उड़द की दाल और चावल को दान करने का विशेष महत्व है। घर में भी भोजन के दौरान उड़द की दाल की खिचड़ी बनाकर खायी जाती है। तमाम लोग खिचड़ी के स्टॉल लगाकर उसका वितरण करके पुण्य कमाते हैं। इस कारण तमाम जगहों पर इस त्योहार को भी खिचड़ी के नाम से जाना जाता है। माना जाता है कि इससे सूर्यदेव और शनिदेव दोनों की कृपा बनी रहती है। टी सी शर्मा ने अपने विद्वान बजुर्गों से अक्सर सुना और कहते हुए जाना है कि मकर संक्रान्ति के दिन खिचड़ी बनाने की प्रथा बाबा गोरखनाथ के समय से शुरू हुई थी। बताया जाता है कि जब खिलजी ने आक्रमण किया था, तब नाथ योगियों को युद्ध के दौरान भोजन बनाने का समय नहीं मिलता था और वे भूखे ही लड़ाई के लिए निकल जाते थे। उस समय बाबा गोरखनाथ ने दाल, चावल और सब्जियों को एक साथ पकाने की सलाह दी थी। ये झटपट तैयार हो जाती थी। इससे योगियों का पेट भी भर जाता था और ये काफी पौष्टिक भी होती थी। बाबा गोरखनाथ ने इस व्यंजन का नाम खिचड़ी रखा। खिलजी से मुक्त होने के बाद मकर संक्रान्ति के दिन योगियों ने उत्सव मनाया और उस दिन खिचड़ी का वितरण किया। तब से ​मकर संक्रान्ति पर खिचड़ी बनाने की प्रथा की शुरुआत हो गई। मकर संक्रान्ति के मौके पर गोरखपुर के बाबा गोरखनाथ मंदिर में खिचड़ी मेला भी लगता है। इस दिन बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी का भोग लगाया जाता है और लोगों में इसे प्रसाद रूप में वितरित किया जाता है। पं टी सी शर्मा ने सभी हिन्दू समाज के लोगों को इस त्यौहार को धूमधाम से अपने घरों में मनाने के लिए हार्दिक शुभकामनाएं व बधाई दी तथा आने वाला हिन्दू नववर्ष आप सभी के जीवन को कुशाल बनाये तथा आदिव्यादि से दूर रहे।जय माँ देउरी दुर्गा , जय महादेव

RELATED ARTICLES

आनी उपमंडल के सभी देव स्थलों में देव परम्पराओं के अनुसार मनाई मकर संक्रांति

आनी, मधु शर्मा: मकर संक्रांति के अवसर पर कुल्लु जिला के आनी उपमंडल में सभी देव स्थलों में मकर संक्रांति पर्व की धूम देंखने...

राजकीय कन्या विद्यालय आनी में रही हिंदी दिवस की धूम

आनी, मधु शर्मा हिंदी दिवस के उपलक्ष्य परराजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में ऑनलाइन वर्चुअल तरीके से हिंदी दिवस मनाया गया। इस अवसर पर विद्यालय...

ब्राम्हण समुदाय की महिलाओं ने पारंपरिक रीति रिवाजों से मनाया ऋषि पंचमी पर्व

आनी, मधु शर्मा : आनी उपमंण्डल में सदियों से चली आ रही ऋषि पंचमी पर्व को मनाने की परम्परा को ब्राह्मण परिवार की गृहणियों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रविवार को आदर्श युवा मंडल गाड़ द्वारा राष्ट्रीय युवा सप्ताह का आयोजन किया गया

नेहरू युवा केंद्र कुल्लू के दिशानिर्देश अनुसार आयोजित किया कार्यक्रम आनी, मधु शर्मा:नेहरू युवा केंद्र कुल्लू युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के दिशानिर्देश...

जिला परिषद अध्यक्ष पंकज परमार ने स्वर्गीय प्रदीप परमार की जयंती पर श्रदांजलि दी।

आनी, मधु शर्मा: आज प्रदीप परमार की जयंती पर जिला परिषद अध्यक्ष पंकज परमार ने श्रदांजलि दी। इस मौके पर आज शनिवार को श्रद्धांजलि दी।...

एनएमएस एप अब मनरेगा मजदूरों की नहीं लगेगी फर्जी हाजिरी

आनी,मधु शर्मा: महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में काम करने वाले मजदूरों की अब फर्जी हाजिरी नहीं लग पाएगी। मनरेगा मजदूरों की...

आनी उपमंडल के सभी देव स्थलों में देव परम्पराओं के अनुसार मनाई मकर संक्रांति

आनी, मधु शर्मा: मकर संक्रांति के अवसर पर कुल्लु जिला के आनी उपमंडल में सभी देव स्थलों में मकर संक्रांति पर्व की धूम देंखने...

Recent Comments