Tuesday, October 19, 2021
Home Kaimur मोहनियां विधानसभा : 68 साल में पहली बार महिला विधायक बनी...

मोहनियां विधानसभा : 68 साल में पहली बार महिला विधायक बनी संगीता कुमारी, राजद का तीसरी बार कब्जा

#204 मोहनिया विधानसभा सीट ने सबसे पहले जिले को दिया है मंत्री और सांसद

#15 साल बाद मोहनिया में जली लालटेन तो पहली बार महिला विधायक ने जमाया कब्जा

#1952 से 1985 के बीच सबसे अधिक 5 बार कांग्रेस का रहा सीट पर कब्जा

भभुआ कैमूर। बिहार के कैमूर जिले का 204 मोहनिया विधानसभा सुरक्षित सीट है। जहां 68 वर्ष के कार्यकाल में पहली बार महिला प्रत्याशी ने जीत कर सेहरा अपने सिर पर बांधा है।‌ जनता ने उसे विधानसभा तक पहुंचाने का सपना को पूरा किया है। इस बार विधानसभा चुनाव जीतने वाली महागठबंधन से राजद के प्रत्याशी संगीता कुमारी पहली बार मोहनिया सुरक्षित विधानसभा से सीट पर कब्जा जमाया है। मोहनिया विधानसभा सीट पर 15 वर्षों बाद राजद की लालटेन जली है। इससे पहले वर्ष 2005 से राजद से सुरेश पासी ने चुनाव जीता था।

भभुआ विधानसभा : राजद के भरत बिंद ने भाजपा की रिंकी रानी पांडेय को 10045 मतों से हराया

मिली जानकारी के मुताबिक, 1947 में देश के आजाद हुआ। जिसके बाद पहली बार 1952 में मोहनिया विधानसभा सीट के लिए चुनाव हुआ था। शुरुआती दौर में मोहनिया विधानसभा सुरक्षित नहीं थी। 1952 से लेकर 2020 तक अपने 68 वर्ष के राजनीतिक सफर में पहली बार मोहनिया विधानसभा सीट पर महिला विधायक ने कब्जा जमाया है। हालांकि इस लंबी अवधि के बीच कई राजनीतिक दलों से कई महिला प्रत्याशियों ने अपनी किस्मत आजमाया। लेकिन वह सफल नहीं हो पाई। इस तरह 63 साल के कार्यकाल के बाद मोहनिया विधानसभा सीट से महिला विधायक चुनकर सदन तक संगीता कुमारी राजद के प्रत्याशी पहुंचेगी।

कैबिनेट मंत्री व सांसद तक यहां से कर चुके हैं सफर
मिली जानकारी के मुताबिक, मोहनिया विधानसभा सीट से जीते हुए विधायक कैबिनेट मंत्री व सांसद तक का सफर तय कर चुके हैं। मोहनिया विधानसभा सीट ने सबसे पहले जिले को मंत्री और सांसद दिया है। वैसे तो यह विधानसभा क्षेत्र समाजवाद के गढ़ रहा है। लेकिन वर्ष 2015 में खाली हुए विधान सभा सीट पर उपचुनाव में पहली बार समाजवाद किले में कमल खिला और भगवा ध्वज लहराया।

इस सुरक्षित सीट पर भाजपा से निरंजन का विधायक बने। इससे पहले निरंजन राम ने कई बार विभिन्न दलों से अपने भाग्य आजमा चुके थे। लेकिन उनको सफलता नहीं मिल पाई। 2015 के विधानसभा चुनाव में दूसरी बार में निरंजन राम ने भाजपा के टिकट पर जीत दर्ज किया और समाजवाद किले पर भगवा ध्वज लहराने में कामयाब हुए थे। इसके पहले सासाराम संसदीय क्षेत्र के सांसद छेदी पासवान ने जदयू के टिकट पर दो बार विधायक रहे। वर्ष 2005 में राजद के टिकट पर सुरेश पासी चुनाव जीते थे। लेकिन उसी साल उनकी मृत्यु होने से विधायक का पद खाली हो गया।

इसके बाद वर्ष 2005 में पहली बार जब छेदी पासवान जदयू के टिकट पर मोहनिया विधानसभा से जीतकर विधायक बने तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भवन निर्माण विभाग का मंत्री बनाकर उनका आवभगत किया था। जनता के बीच अपनी छवि रखने का लगातार दूसरी बार साल 2010 में भी विधायक बने। लेकिन इस बार उनके विधायक बनने पर नीतीश कुमार ने उनको मंत्री पद नहीं दिया तो इससे नाराज छेदी पासवान ने पार्टी के नेतृत्व के विरुद्ध बगावत का बिगुल फूंक दिया। जिसके बाद छेदी पासवान ने जदयू का दामन छोड़ भाजपा में शामिल हो गए।

2014 में भाजपा के टिकट पर उनके सांसद बनने के बाद मोहनिया विधानसभा से खाली हुई विधानसभा सीट पर जदयू ने सांसद छेदी पासवान के भतीजे चंद्रशेखर पासवान को टिकट देकर 2015 के उपचुनाव में मैदान में उतारा। लेकिन इस उपचुनाव में भाजपा से निरंजन राम ने विजयी हुए और चंद्रशेखर पासवान को हार का सामना करना पड़ा। पहली बार मोहनिया विधानसभा सीट में कमल खिला।

मोहनियां विधानसभा सीट से राजद के प्रत्याशी को जीत के बाद प्रमाणपत्र देते पदाधिकारी

मोहनिया विधानसभा सीट पर जदयू से पहले राजद का था कब्जा
मिली जानकारी के मुताबिक, मोहनिया विधानसभा सीट पर जदयू से पहले राजद का कब्जा था। वर्ष 2005 में राजद के टिकट पर सुरेश पासी विधायक चुने गए। इससे पहले सुरेश पासी बसपा के टिकट पर दो बार विधायक रह चुके थे। शुरू में मोहनिया विधानसभा सीट सामान्य थी। जिस पर आजादी के बाद 1952 में कांग्रेस से राम नगीना सिंह चुनाव जीतकर विधायक बने। उसके बाद 1957 में प्रजा सोशलिस्ट पार्टी से बद्री सिंह ने चुनाव जीतकर समाजवाद का परचम लहराया। इसी पार्टी से 1969 में भगवत प्रसाद विधायक बने। कांगेस के टिकट पर 1980 में महावीर पासवान जीते और विधायक बने। महावीर पासवान ने लगातार कांग्रेस से दूसरी बार 1985 में मोहनिया विधानसभा सीट पर जीत दर्ज कर प्रदेश में मंत्री बने।

तीन दशक पहले पांच बार मोहनिया विधानसभा सीट को जीतने वाली कांग्रेस को पिछले विधानसभा में महागठबंधन से टिकट मिलने के बाद इस बार भी चौक चौराहे पर दावेदारी की चर्चा कमोबेश होती रही। पिछले 2015 के विधानसभा चुनाव में महागठबंधन से कांग्रेस प्रत्याशी 7581 वोटों से चुनाव हार गए थे।

भभुआ एवं रामगढ़ सीट से महिला विधायक पहुंच चुकी है सदन
बिहार के स्वर्णिम राजनीति इतिहास में मोहनिया विधानसभा सीट से पहली बार महिला विधायक के राजनीतिक भाग्य का उदय हो सका है। कैमूर की 4 विधानसभा सीटों में से 205 भभुआ विधानसभा और 203 रामगढ़ विधानसभा से महिला विधायक जीत का सदन जा चुकी है। लेकिन इस बार मोहनिया विधानसभा क्षेत्र से पहली बार राजद की महिला प्रत्याशी संगीता कुमारी ने जीत का सेहरा बांध लेकर सदन तक पहुंचेगी। इस बार मोहनिया विधानसभा क्षेत्र में परिवर्तन की लहर रहा और जनता ने राजद के प्रत्याशी संगीता कुमारी को भारी मतों से विजयी बनाकर सदन भेजने का काम किया है।

RELATED ARTICLES

नाजायज संबंध में पति ने पत्नी की हत्या, तालाब में फेंका मिला शव, इलाके में मची सनसनी

दुर्गावती (कैमूर)। जिले मे दुर्गावती थाना क्षेत्र के ग्राम धनेछा स्थित पोखरे में शनिवार को एक विवाहिता का शव मिलने से क्षेत्र मे सनसनी...

प्रेमी के घर वालों ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने एसपी से लगाई गुहार,थाने के शिव मंदिर में हुई शादी

बिना बैंड बाजे के शादी में प्रेमी प्रेमिका बने दूल्हा दुल्हन तो बराती बने पुलिस वाले भभुआ कैमूर. कैमूर में बिना बैंड बाजे के थाने...

अगलगी में दो किसानों के एक हजार धान का बोझा जलकर राख, मेहनत पर फिरा पानी, टूट गए सारे अरमान 

भगवानपुर/कैमूर। भगवानपुर थाना क्षेत्र के गोबरछ गांव के खलिहान में रखे गए धान के बोझा में सोमवार की रात अचानक आग लग गया। जिसमें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आनी वश्ता रोड पक्का नही हुआ तो करेगे चुनावों का बहिष्कार

आनी: आनी वश्ता रोड का कार्य लगभग पिछले चार दशकों से चला रहा है जो आज दिन तक पक्का नही हुआ , लोगो मे...

खनाग स्कूल के विद्यार्थियों को गेस्ट लेक्चर से मिले आधुनिक शिक्षा के गुर

आनी: मधु शर्मा, आनी उपमंडल के शिखर पर स्तिथ जलोड़ी पास के साथ लगते राजकीय बरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खनाग के छात्रों ने वोकेशन शिक्षा...

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उच्च न्यायालय के अधिवक्ता दीपक शर्मा सुंफा को उप चुनाव से संबंधित एक अहम जिम्मेवारी सौंपी।

हिमाचल प्रदेश में हो रहे उपचुनाव के लिए हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रामपुर बुशहर से संबंध रखने वाले एडवोकेट दीपक शर्मा सुंफा को...

कांग्रेस ने जारी किया उपचुनाव के लिए प्रत्याशी

बिग ब्रेकिंग - मंडी से प्रतिभा सिंह, अर्की से संजय अवस्थी, फतेहपुर से भवानी पठानिया और जुब्बल कोटखाई से रोहित ठाकुर होंगे कांग्रेस के...

Recent Comments