Wednesday, October 27, 2021
Home Kaimur कैमूर : इस गांव के मतदाताओ ने 3 घण्टे पैदल,घने जंगल व...

कैमूर : इस गांव के मतदाताओ ने 3 घण्टे पैदल,घने जंगल व 1200 फीट ऊंचे पहाड़ से नीचे उतर कर डाला वोट

भभुआ/कैमूर(बंटी जायसवाल)। बुधवार को बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान कैमूर जिले में शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। कैमूर जिले के पहाड़ी इलाके अधौरा प्रखंड के एक ऐसे गांव के मतदाताओं ने घना जंगल व एक हजार फीट से अधिक ऊंचाई के पहाड़ से नीचे उतर कर मतदान केंद्र पर पहुंचकर मतदाताओं ने अपने वोट का प्रयोग किया। चुनाव में आदिवासी मतदाताओं का उत्साह काफी देखने को मिला। वही मतदान के दौरान मतदान केंद्रों पर लंबी लंबी कतारें मतदाताओं के देखने को मिली। 

मतदाताओं ने तीखी धूप में भी घंटों खड़े होकर लोकतंत्र के महापर्व पर अपनी भागीदारी निभाते हुए वोट किया। मतदान केंद्रों पर कोना के गाइडलाइंस का पालन करते हुए मतदाताओं ने वोट किया। अधौरा प्रखंड के बड़वानकला गांव के मतदाताओं ने घने जंगल एवं 1000 फिट से ऊपर के पहाड़ से नीचे उतार कर उत्साह के साथ अपना मतदान विनोबा नगर में किया।

दरअसल, कैमूर जिले के अधौरा प्रखंड में नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आता है।यहांं के 124 गांव जो पहाड़ के ऊपर बसे हुए हैं। जिसमें विनोबा नगर एक गांव पहाड़ की तलहटी में नीचे बसा हुआ है। इस गांव की पंचायत का बड़वान कला गांव पहाड़ पर बसा हुआ है। ऐसे में बड़वान कला के गांव के मतदाताओं को वोट देने के लिए विनोबानगर में आना पड़ता है। वोट देने आने वाले मतदाताओं का कहना था कि उन्हें अपने गांव बड़वान  कला गांव से पहाड़ के नीचे विनोबा नगर मतदान केंद्र तक पहुचंने में तीन घण्टे का समय लग जाता है। इसके साथ ही यह भी बताया कि उन्हें 18 किलोमीटर का घना जंगल और लगभग 1200 फीट ऊंचे पहाड़ से नीचे उतारना पड़ा है।

बड़वान कला के मतदाता विजयमल यादव,दीपक यादव ने बताया कि हमारे गांव तक पहुंचने के लिए पक्की सड़क,बिजली, पानी, शिक्षा आदि का अभाव है। जो कई वर्षों से चला आ रहा हैं। लेकिन आज तक हमारी गांव के लोगों के लिए मूलभूत सुविधाओं का समाधान नहीं हो पाया है।हमारा मांग है कि कोई भी नेता विधायक या जिसकी भी सरकार बने। सबसे पहले बड़वान कला गांव तक पक्की सड़क का निर्माण कराया जाए। इसके बाद बिजली, शुद्ध पेयजल शिक्षा पर ध्यान दिया जाए। गांव में बिजली सौर ऊर्जा से मिलता है।लेकिन कारगर नहीं है। वही नल जल योजना लगा हुआ है।

 उससे भी पानी नहीं मिल पाता है। क्योंकि पहाड़ पर 1000 फीट नीचे खुदाई करने के बाद ही पानी मिल पाएगा।लेकिन नल जल योजना में 500 फिट की बोरिंग करने के बाद छोड़ दिया जाता है। इसलिए पानी का जलस्तर नीचे चले जाने के बाद पानी नहीं मिल पाता है। वही कुँए से पानी लाकर पीना पड़ता है। इसी उम्मीद से हम लोग हर चुनाव में घने जंगल, पहाड़ से नीचे उतर कर लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागीदारी निभाते हैं।

सड़क के अभाव में जंगल व पहाड़ के रास्ते वोट देने पहुँचने में उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उनका दिनभर का समय बीत जाता है। अगर वह दूसरे रास्ते से आएंगे तो 60 किमी की दूरी तय करना पड़ेगा। विनोबानगर के ग्रामीणो द्वारा बड़वान कला के मतदाताओं के लिए खाने का प्रबंध भी किया जाता है। तो वहीं कुछ मतदाता वोट देने के बाद यहां पिकनिक की तरह लिट्टी चोखा बना खाकर फिर वापस अपने गांव के लिए पहाड़ चढ़ और घने जंगल होकर जाते हैं।

मतदाताओ का कहना था एक समय ऐसा था, जब बड़वान कला के ग्रामीणों की शादी नहीं हुआ करती थी। 70 और 80 साल के लोग गांव में आज भी कुंवारे हैं। जिसके बाद ग्रामीणों ने पहाड़ काटकर अस्थायी रास्ता बनाया। लेकिन बारिश के दिनों में ये भी बंद हो गया। यहां के लोगों के लिए सबसे बड़ी समस्या सड़क का है। यह समस्या खत्म हो जाये तो कुछ हद तक परेशानी कम हो जायेगी। 

वहीं विनोबा नगर मतदान केंद्र के पीठासीन पदाधिकारी चंदन कुमार ने बताया कि विनोबा नगर में दो मतदान केंद्र हैं। इन दोनों बूथ पर वोटिंग करने के लिए पहाड़ से नीचे उतर कर लोग आते हैं। शांतिपूर्वक मतदान चल रहा है। सुबह 10 बजे तक मतदाताओ की भीड़ नहीं थी।लेकिन बड़वान कला गांव के मतदाता पहाड़ से नीचे उतर कर 10 बजे के बाद आना शुरू हो गए। मतदाताओं द्वारा बढ़ चढ़ वोट किया जा रहा है। 

RELATED ARTICLES

नाजायज संबंध में पति ने पत्नी की हत्या, तालाब में फेंका मिला शव, इलाके में मची सनसनी

दुर्गावती (कैमूर)। जिले मे दुर्गावती थाना क्षेत्र के ग्राम धनेछा स्थित पोखरे में शनिवार को एक विवाहिता का शव मिलने से क्षेत्र मे सनसनी...

प्रेमी के घर वालों ने शादी से किया इंकार तो प्रेमिका ने एसपी से लगाई गुहार,थाने के शिव मंदिर में हुई शादी

बिना बैंड बाजे के शादी में प्रेमी प्रेमिका बने दूल्हा दुल्हन तो बराती बने पुलिस वाले भभुआ कैमूर. कैमूर में बिना बैंड बाजे के थाने...

अगलगी में दो किसानों के एक हजार धान का बोझा जलकर राख, मेहनत पर फिरा पानी, टूट गए सारे अरमान 

भगवानपुर/कैमूर। भगवानपुर थाना क्षेत्र के गोबरछ गांव के खलिहान में रखे गए धान के बोझा में सोमवार की रात अचानक आग लग गया। जिसमें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आनी वश्ता रोड पक्का नही हुआ तो करेगे चुनावों का बहिष्कार

आनी: आनी वश्ता रोड का कार्य लगभग पिछले चार दशकों से चला रहा है जो आज दिन तक पक्का नही हुआ , लोगो मे...

खनाग स्कूल के विद्यार्थियों को गेस्ट लेक्चर से मिले आधुनिक शिक्षा के गुर

आनी: मधु शर्मा, आनी उपमंडल के शिखर पर स्तिथ जलोड़ी पास के साथ लगते राजकीय बरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खनाग के छात्रों ने वोकेशन शिक्षा...

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उच्च न्यायालय के अधिवक्ता दीपक शर्मा सुंफा को उप चुनाव से संबंधित एक अहम जिम्मेवारी सौंपी।

हिमाचल प्रदेश में हो रहे उपचुनाव के लिए हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रामपुर बुशहर से संबंध रखने वाले एडवोकेट दीपक शर्मा सुंफा को...

कांग्रेस ने जारी किया उपचुनाव के लिए प्रत्याशी

बिग ब्रेकिंग - मंडी से प्रतिभा सिंह, अर्की से संजय अवस्थी, फतेहपुर से भवानी पठानिया और जुब्बल कोटखाई से रोहित ठाकुर होंगे कांग्रेस के...

Recent Comments